दिल्ली में सीवर की गैस ने ली एक और सफाई कामगार की जान, शकरपुर की घटना
नयी दिल्ली। देश की राजधानी में सोमवार को एक सफाई कर्मचारी की मौत इसलिए हो गई क्योंकि उनके पास पर्याप्त सुरक्षा उपकरण नहीं थे।
नयी दिल्ली। देश की राजधानी में सोमवार को एक सफाई कर्मचारी की मौत इसलिए हो गई क्योंकि उनके पास पर्याप्त सुरक्षा उपकरण नहीं थे। ये कर्मचारी अपने साथियों के साथ सीवर की सफाई के लिए उतरे थे। लेकिन पर्याप्त उपकरण न होने के चलते इनमें से तीन कर्मचारी बीमार पड़ गए। इसमें से एक की मौत हो गई। दो अन्य सफाई कर्मचारियों की हालत स्थिर बतायी गयी है। सुभाष प्लेस थाने में मामला दर्ज किया गया और दो लोगों-एक ठेकेदार और एक निजी सुपरवाइजर को गिरफ्तार कर लिया गया।
पुलिस ने बताया कि गोरे लाल, रोहित, साई और अशोक एक गैस एजेंसी के पास सीवर साफ करने उतरे थे। बीमार पड़ने के बाद अशोक की मौत हो गयी थी। उन्हें पीतमपुरा में भगवान महावीर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि रोहित की हालत नाजुक थी और उन्हें सफदरजंग अस्पताल भेजा गया था जहां सोमवार को उनकी मौत हो गयी। दो अन्य सफाई कर्मचारियों की हालत स्थिर बतायी गयी है। पीडब्ल्यूडी के एक ठेकेदार ने उन्हें सीवर की सफाई के काम में लगाया था।
लाल की शिकायत पर आईपीसी की धारा 304 (लापरवाही से हुई मौत) और हाथों से मैला ढोने के रोजगार पर प्रतिबंध और उनके पुनर्वास कानून की धारा सात/नौ के तहत सुभाष प्लेस थाने में मामला दर्ज किया गया और दो लोगों-एक ठेकेदार और एक निजी सुपरवाइजर को गिरफ्तार कर लिया गया। अपनी शिकायत में लाल ने आरोप लगाया कि उन्हें बिना किसी सुरक्षा उपकरण के सीवर में उतरने के लिए मजबूर किया गया।

Post a Comment

और नया पुराने